अध्यक्ष, अल्पसंख्यक आयोग, उत्तर प्रदेश ने अल्पसंख्यक समुदाय की समस्याओं के निस्तारण हेतु जनसुनवाई की

अध्यक्ष, अल्पसंख्यक आयोग, उत्तर प्रदेश ने अल्पसंख्यक समुदाय की समस्याओं के निस्तारण हेतु जनसुनवाई की

सरकार अल्पसंख्यक समाज को टोपी से टाई तक ले जाना चाहती है-अध्यक्ष
कुरान पढ़कर व्यक्ति अच्छा इंसान तो बन सकता है ,लेकिन डॉक्टर, इंजीनियर, वकील बनने के लिए हिंदी ,अंग्रेजी, विज्ञान जरूरी-अशफाक
बुलन्दशहर।
उत्तर प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष अशफाक सैफी द्वारा 15जुलाई, 2021 को जनपद बुलन्दशहर के सर्किट हाउस में अल्पसंख्यक समुदाय की समस्याओं के निस्तारण हेतु जनसुनवाई की गई। अध्यक्ष ने अल्पसंख्यक समाज के लिए केंद्र व राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराया। यह सरकार ईमान, इक़बाल और इंसाफ़ की सरकार है। समाज के सभी लोगों को न्याय मिले, तुष्टिकरण किसी का भी नहीं हो। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जनसंख्या नियंत्रण हेतु जो मसौदा बनाया गया है, बहुत ही सराहनीय है। हम सब अल्पसंख्यक समाज को ऊपर बढ़ाना चाहते हैं। टोपी से टाई तक ले जाना चाहते हैं, सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में अलग-अलग जगह पर स्कूल खोले जा रहे हैं। शिक्षा को बढ़ावा दिया जा रहा है, जनता तक बेहतर सुविधाएं पहुंचाने के लिए जनसंख्या कानून जरूरी है, क्योंकि देश के विकास के लिए जनसंख्या नियंत्रण क़ानून की बहुत आवश्यकता है। यह क़ानून हमारे देश के लिए, देश की अर्थव्यवस्था के लिए व समाज की प्रगति के लिए कारगर साबित होगा। सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समाज के प्रत्येक व्यक्ति को प्रत्येक कल्याणकारी योजना का लाभ मिले “सबका साथ-सबका विकास सबका विश्वास” इसी नीति के तहत दूरदराज से आए आगंतुकों व पीडि़तों की समस्या को सुना और उनके निस्तारण के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया ताकि पीडि़तों की समस्या का जल्द से जल्द समाधान कराया जाए
साथ ही जिले के समस्त प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के कल्याण हेतु संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी लेकर समीक्षा बैठक की तथा सक्षम अधिकारियों को आदेशित किया कि अल्पसंख्यक समुदाय के कल्याण हेतु संचालित योजनाओं का प्रचार प्रसार करते हुए समाज के अंतिम पायदान तक बैठे व्यक्ति तक लाभ पहुंचाया जाये। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नारा है कि “एक हाथ में क़ुरान एक हाथ में कम्प्यूटर” समाज के विकास लिए समाज प्रत्येक व्यक्ति को क़ुरान की शिक्षा के साथ-साथ कम्प्यूटर की शिक्षा भी बहुत ज़रुरी है।मदरसों का आधुनिकरण कर कुरान के साथ हिंदी ,अंग्रेजी, गणित, विज्ञान भी पढ़ाई जाए। कुरान के साथ कंप्यूटर का भी ज्ञान कराया जाए ,क्योंकि कुरान पढ़कर व्यक्ति अच्छा इंसान तो बन सकता है ,लेकिन डॉक्टर, इंजीनियर, वकील बनने के लिए हिंदी ,अंग्रेजी, विज्ञान जरूरी है। राज्य सरकार द्वारा छात्रा-छात्राओं को स्कॉलरशिप की सुविधा दी जाती है। कई जि़लों से स्कॉलरशिप में घोटाले को लेकर शिकायत आयी है। आयोग द्वारा एक जाँच कमेटी का गठन किया गया है, जाँच के उपरांत आरोप सिद्ध होने पर संस्थान की मान्यता को रद्द कर दिया जाएगा एवं संस्थान के खि़लाफ़ मुक़द्दमा दर्ज किया जायेगा ।अध्यक्ष द्वारा यह भी निर्देश दिए गए कि अल्पसंख्यक समुदाय के ऐसे बच्चे ,जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना से हो चुकी है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ पीडि़तों को पहुंचाने के लिए विशेष प्रयास किए जायें तथा अल्पसंख्यक समाज के मोहल्लों व मदरसों में वैक्सीनेशन कैंप लगाने के लिए निर्देशित किया ताकि समाज के प्रत्येक व्यक्ति, उसके परिवार व देश को कोरोना जैसी धातक बीमारी से सुरक्षित किया जा सके। वर्तमान में प्रदेश की कई राज्यों में वक्फ बोर्ड, क़ब्रिस्तानों इत्यादि की ज़मीनों पर जो अवैध क़ब्ज़े किए जा रहे है, उन असामाजिक तत्वों के खि़लाफ़ आयोग व प्रशासन द्वारा सख़्त से सख़्त कार्यवाही के आदेश किए जा रहे है।

 76 total views,  2 views today

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *